recent posts

banner image

मोतियों की माला - कहानी | Latest Story in Hindi 2018

मोतियों की माला 

चित्रगुप्त नगर में प्रसन्नजीत नाम का राजा रहता था। उनको एक सुंदर सुशील प्रतिभासंपन्न राज्यकन्या थी उनका नाम सुकन्या था वह राजा की एकलौती संतान थी। राजा उनसे जी जान से प्यार करता था। राजकुमारी जो मांग करती राजा पुरी करता था। एक दिन जोर की वर्षा हो रही थी, पानी की बूंदे मोतियों की माला के समान गिर रही थी। राजकुमारी के मन में विचार आया "इतनी सुंदर मोतियों की माला उनके पास रहेगी तो कितना मजा आएगा" उन्होंने अपने पिता से कहां कि "मुझे जो पानी के बूंदों से बनी हुई माला भेंट मैं देगा उनके साथ में शादी करूंगी" राजा यह बात सुनकर सोच मैं पड़ गया उनको पता था कि ऐसा कोई इंसान नहीं होगा कि वह पानी कि बुंदू से बनी हुई माला लाकर देगा। वह दुखी हुआ कि मेरी बेटी कुंवारी रहे जाएगी। उन्होंने अपने बेटी को बहुत समझाया लेकिन वह एक नहीं मानी अपने हट पर अड़ी रही।

राजा ने देशों देशों मैं यह घोषणा कर दी कि "जो पानी की बूंदों से बनी हुई माला राजकन्या को भेंट में देगा उसके साथ राजकुमारी शादी करेगी" गांव गांव के राजकुमार, ज्ञानी, विद्वान लोग मूल्यवान मोतियों की माला लेकर आए लेकिन राजकुमारी एक ही बात पर अड़ी रही।

गांव में एक सुंदर नव जवान रहता था। उसने वह खबर सुनी और वह मुस्कुराने लगा और वह मेहल में आया। उस नौजवान ने राजा से कहा कि "मैं पानी की बूंदों से बनी मोतियों की माला लाकर दूंगा" उस नौजवान ने वह चुनौती स्वीकार कर ली और बोला कि "राजकुमारी के महल में मुझे लेकर चलो मैं राजकुमारी को अकेले में मिलना चाहता हूं" और तभी बाहर वर्षा हो रही थी। वह राजकुमारी को मिलने गया उस नौजवान ने राजकुमारी से काहा "आपने जो शर्त रखी है वह मुझे मंजूर है लेकिन मेरी एक शर्त है कि आप पानी की बूंदे बटोरकर मेरे पास थाली में लेकर आइए" यह सुनकर राजकुमारी सोच में पड़ गई। तभी राजकुमारी को समझ में आया कि मैंने जो मांग की थी वह कितनी मूर्खता की थी। तभी राजकुमारी को अपनी गलती का एहसास हुआ और वह नौजवान की होशियारी से प्रसन्न हो गई और राजकुमारी ने शादी करने का फैसला कर लिया।


यह बात सुनकर राजा खुश हो गया और राजा ने अपनी बेटी की शादी उस नौजवान से धूमधाम से कर दी।
मोतियों की माला - कहानी | Latest Story in Hindi 2018 मोतियों की माला - कहानी | Latest Story in Hindi 2018 Reviewed by Gutar Gu Circus on February 24, 2018 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.